डार्क चॉकलेट : कितने परसेंटेज वाली स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती हैं

BY MANJEET      10/02/2024 

डार्क चॉकलेट 70% या इससे अधिक कोको वाली बार ( अधिक कोको अधिक फ्लेवोनोइड  के बराबर होता है)। अगर डार्क चॉकलेट का स्वाद आपको बहुत कड़वा लगता है तो,आप डार्क  मिल्क चॉकलेट अपने खाने के लिए चुन सकते हैं। आज के इस जमाने में चॉकलेट सबको लोकप्रिय लगती है। कम उम्र के बच्चों में इसका खाने का करेज देखा जा सकता है। 

इस चॉकलेट में नॉर्मल चॉकलेट की तुलना में चीनी बहुत कम मात्रा में होती है। इसमें अधिक मात्रा में कोको ( कोको नामक पेड़ के फलों के बीज से कोको तैयार किया जाता हैं ) होता है। इस चॉकलेट में शुगर की मात्रा10% ही होती है। कई चॉकलेट में तो यह मात्र इससे भी कम होती है। यदि आप चॉकलेट पर मिल्क चॉकलेट लिखा देखिए तो, उसमें समझ जाइए कोको की प्रतिशत 38 या इसे अधिक है। तो आपको पता चल जाएगा ही,चॉकलेट दूध की है। मिल्क या सफेद चॉकलेट में एक ग्राम भी कोको नहीं होता है। 

डार्क चॉकलेट खाने के फायदे

डार्क चॉकलेट खाने में काफी कड़वी भी होती है। यह एक कड़वी सच्चाई है। लेकिन लोग इसकी स्वस्थ के प्रति लाभों  को देख कर फिर भी काफी लोकप्रिय है। डायरेक्ट चॉकलेट हृदय और हृदय की मांसपेशियों के लिए काफी लाभदायक है। यह चॉकलेट दिमाग की तौर पर स्वस्थ रखने के लिए प्रसिद्ध है। डार्क चॉकलेट को बनाने की मुख्य सामग्री कोको ही है। जो डार्क चॉकलेट को स्वस्थ चॉकलेट भी बनता है। कोको एंटी ऑक्साइड का सबसे अच्छा स्रोत भी माना जाता है। यह आपके शरीर को अंदर से स्वस्थ लाभ पहुंचना है। 

ऐसे बहुत सारे अध्ययनों में साबित हो चुका है कि, 50% से अधिक कोको वाली डार्क चॉकलेट खाना स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्य वर्धक है। अगर आप डार्क चॉकलेट के कड़वेपन से दुखी है तो,इसका भी समाधान है। का समाधान यह है। कि आप 50% से लेकर 70% कोको पाउडर वाली चॉकलेट में चीनी बहुत कम मात्रा में होती है। और इसके हानिकारक प्रभाव भी कम  ही है। जब आप स्टोर से इस चॉकलेट खरीदे तो,इसके पैकेट पर यह चीज देखकर खरीदें की इसमें कोको  की मात्रा कितनी है। 

इसके कुछ स्वस्थ लाभ 

  1. इस चॉकलेट में एंटीऑक्सिडनट्स तत्व होता है, जो दिल को स्वस्थ रखने में बॉडी की हेल्प करता है। 
  2. एंटीऑक्सिडनट्स यह मानव के शरीर को साफ रखने में मदद करता है। (डिटॉक्सिफाई)
  3. यह चॉकलेट उच्च रक्तचाप को काम करती है,और शरीर में रक्त परिसंचरण को बढ़ा सकती है। 
  4. शरीर को एनर्जेटिक (एक्टिव) रखने में मदद करती है। 
  5. यह चॉकलेट शरीर के वजन को संतुलित रखनामें भी मदद करती है। 
  6. यह चॉकलेट अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाती है,और खराब कोलेस्ट्रॉल को घटती है। 
  7. इस चॉकलेट में मौजूद कोको मस्तिक को स्वस्थ,स्मरण शक्ति को बढ़ाना,फोकस और एकाग्रता करने में मदद करता है। 

डार्क चॉकलेट ही क्यों

कई सारे सो दो में यह बात साबित हो चुकी है कि, मिल्क चॉकलेट या व्हाइट चॉकलेट की तुलना में डार्क चॉकलेट एक स्वस्थ विकल्प है। डार्क चॉकलेट में चीनी की मात्रा बहुत ही कम होती है। इसके विपरीत मिल्क चॉकलेट या वाइट चॉकलेट में बहुत सारे फ्लावर्स होते हैं। जो शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। मिल्क चॉकलेट या और दूसरी चॉकलेट में फ्लेवर होने की वजह से इसमें पोषण तत्वों की कमी  रह जाती है। दूसरी ओर डार्क चॉकलेट में कोई फ्लेवर नहीं होता है। 

भारत बना दूध पीने में और उत्पादन करने में विश्व में नंबर 1

डार्क चॉकलेट की न्यूट्रीशन वैल्यू

यूनाइटेड स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ़ एग्रीकल्चर के अनुसार 101 ग्राम की चॉकलेट बार में जिसमें कोको की मात्रा 70 से 85% तक हो वह आपको कितना पोषण प्रदान कर सकती है। 

  1. 604 कैलोरीज
  2. 7.87 ग्राम प्रोटीन
  3. 43.06 ग्राम  फैट
  4. 40.36 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स
  5. 11.00 ग्राम फाइबर आहार
  6. 24 ग्राम शुगर
  7. 12.02 मिलीग्राम आयरन
  8. 230.00 मिलीग्राम मैग्नीशियम
  9. 3.34 मिलीग्राम जिंक

एंटीऑक्सीडेंट क्या है 

एंटीऑक्सीडेंट शरीर में आपकी कोशिकाओं को नुकसान होने से बचाव में शरीर की सहायता करते हैं। यह शरीर की कैंसर जैसे भयानक बीमारियों के बचाव में रक्षा करता है। हमारी शारीरिक संरचना की रक्षा सुपर हीरो की भांति एंटीऑक्सीडेंट करता है। यह सब्जियों में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। सबसे प्रमुख एंटीऑक्सीडेंट विटामिन सी, और ई, बीटा  कैटरिंग और कैरोटिनाडस  हैं। खनिजों में सबसे  प्रचलित है, मैग्नीशियमऔर सेलेनियम होता है।

एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स को कम करने में शरीर की सहायता करता है। फ्री रेडिकल्स शरीर में ऐसा तत्व है जो कोशिकाओं से जुड़कर एक एक जगह इकट्ठा करने लगता है। इस प्रक्रिया से शरीर में कई प्रकार के रोगहो जाते हैं। लेकिन एंटीऑक्सीडेंट भोजन में लेने के बाद फ्री रेडिकल्स को एक था इकट्ठा नहीं होने देता। 

डिस्क्लेमर : यह सारी जानकारी न्यूज सोर्स से ली गई है। इसमें JUSTONECLICK का कोई अपना दावा नहीं है। किसी भी प्रकार की समस्या के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें। 

  

Leave a comment