भारत बना दूध पीने में और उत्पादन करने में विश्व में नंबर 1

BY MANJEET         18/01/2024   

जब से भारत में नरेंद्र मोदी सरकार आई है,पशुपालक विभाग हो या देरी के अन्य उत्पादक हो देश ने इसमें पहले से10 गुना तरक्की की है। भारत दुनिया में सबसे अधिक दूध उत्पादन करने वाला देश बन गया है। केंद्रीय पशुपालन एवं डेरी राज्य मंत्री राजीव बालियान का कहना है की, भारत अब दुनिया में सबसे ज्यादा दूध उत्पादक देश बन गया है। बीते वर्ष जो 2022-23 में देश में दूध उत्पादन 2306 लाख टन किया गया है। जो की वर्ष 2013-14 के दौरान देश में कुल 1463 लाख टन दूध उत्पादन होता था। 

जब से देश में नरेंद्र मोदी सरकार आई है,देश  में देसी गाय की नस्ल को बढ़ावा देने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने आने को प्रयास किए हैं। दूध की खपत और उत्पादन को लेकर भारत ने दुनिया की औसतन खपत की मात्रा को काफी पीछे छोड़ दिया है। पशुपालन और डेयरी मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार भारत सभी तरह के मवेशियों के उत्पादन में दुनिया भर में पहले नंबर पर है।

भारत बना दूध पीने में और उत्पादन करने में विश्व में नंबर वन
भारत बना दूध पीने में और उत्पादन करने में विश्व में नंबर वन

 दुनिया भर के कुल उत्पादन का 24%दूध में योगदान भारत का है। पिछले एक  दशक में देश ने दूध  के उत्पादन में  लगभग 57%बढ़ोतरी की है। इसी का नतीजा है कि भारत में प्रति व्यक्ति आय दूध की उपलब्धता वर्ष 2022 और 23 में 459 ग्राम प्रतिदिन हो गई है। जो पिछले 8-9 वर्षों में 303 प्रति व्यक्ति ग्राम थी। जैसे ही दूध की उत्पन्न उत्पादन क्षमता बड़ी तो भारतीयों की खान-पान में भीते जी से बदलाव होने लगा और दूध की खपत बड़ी तेजी से बढ़ने लगी। दुनिया में दूध की खपत प्रति  प्रति व्यक्ति 394 है। जो की भारत के मुकाबले प्रतिव्यक्ति 65 ग्राम ज्यादा है। 

राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना भारत में शुरू 

दूध के मामले में ऐसी अपने आप पर आश्रित का रास्ता राष्ट्रीय गोकुल मिशन के कारण पूर्ण हो पाया है। जिसकी  शुरुआत दिसंबर 2004 हुई थी। जिसका मकसद है,साइंस टेक्नोलॉजी तरीके देसी गाय नसों का विकास और संरक्षण देश में गायों और देश के परंपरागत गर्भधारण तरीके से किसानों के दरवाजे पर कृत्रिम गर्भधारण सेवाएं उपलब्ध कराई गई,आईवीएफ तकनीक  इंटरमेंट सिमन के जरिए देसी नस्ल के प्रजनन में गुणवत्ताला ने पर विशेष ध्यान दिया गया।इसके पहले देश में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए क्रॉस बिल्डिंग जोर दिया जाता था। इससे वृद्धि तो ठीक-ठाक हो जाती थी. लेकिन दूध की उत्पादन में कमी रह जाती थी।

 भारत के दूध उत्पादकों की विदेश बढ़ने लगी मांग 

मोदी सरकार से पहले यानी 2013-14 के दौरान देश में 1463 दूध उत्पादन किया जाता था।  जो वर्ष 2022 से 23 में बढ़कर 2306 लाख टन हो गया। आजाद भारत की इतिहास में देश की यह दूध उत्पादन की सबसे ज्यादा वृद्धि है। देश में प्रत्येक वर्ष दूध उत्पादन 5.9% से ज्यादा दर से बढ़ रहा है। अगर दुनिया में दूध की बढ़ोतरी देखी जाए तो  वृद्धि दो  प्रतिवर्ष बढ़ रही है। लेकिन देश  के दूध की मांग अब विदेशों में भी बढ़ने लगी है। लगभग डेढ़ सौ देश देश के दूध या दूध से बने प्रोडक्ट की मांग बढ़ने लगी है। पिछले वर्ष से 65 लाख टन दूध उत्पादकों का निर्यात भारत ने किया है। 

सर्दी हो या गर्मी या मानसून, इन आसान सी ट्रिक से रुकेगा बालों का झड़ना

भारत के किन-किन राज्यों में होता है दूध का अधिक उत्पादन

देश में सबसे ज्यादा दूध उत्पादन करने वाले राज्य राजस्थान है। जहां पर 15.05 प्रतिशत दूध का उत्पादन केवल राजस्थान ही करता है।दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश आता हैदूध उत्पादन के मामले में दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश आता है जहां पर14.93 प्रतिशत दूध का उत्पादन होता है। तीसरे स्थान पर मध्य प्रदेश आता है, जहां पर 8.6% दूध का उत्पादन होता है। इसके बाद चौथे स्थान पर गुजरात जहां पर 7.56% दूध का उत्पादन होता है। नंबर पांच परआंध्र प्रदेश आता है जहां पर 6.97% दूध का उत्पादन होता है। देश के बचे हुए राज्यों में 48% दूध का उत्पादन होता है। यह पांच राज्य ही मिलकर देश का 52% दूध का उत्पादन करते हैं।