IPL क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कैम,टीम मालिक को,खिलाड़ियों इन सब के पास पैसा कहां से आता है जानिए काला सच

BY MANJET            30/04/2024

IPL  : सीजन को जो टीम जीतेगी उसे 20 करोड रुपए का इनाम मिलेगा। 20 करोड रुपए के लिए इसके क्या मायने हैं जरा सोच कर देखिए IPL की सबसे सस्ती टीम पिछले सीजन में राजस्थान रॉयल्स उसकी खुद की ब्रांड वैल्यू ऑलमोस्ट 250 करोड रुपए है। ब्रांड वैल्यू 2700 करोड रुपए 20 करोड रुपए का विनिंग प्राइज! क्या मायने है इसके? टीम्स के लिए जरूरी है क्योंकि आईपीएल का अगर बिजनेस मॉडल समझना है तो यह समझना होगा कि बीसीसीआई बिजनेस मॉडल के केंद्र में बैठा है।

IPL क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कैम,टीम मालिक को,खिलाड़ियों इन सब के पास पैसा कहां से आता है जानिए काला सच
IPL क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कैम,टीम मालिक को,खिलाड़ियों इन सब के पास पैसा कहां से आता है जानिए काला सच

 IPL की गवर्निंग बॉडी आज के दिन यह बीसीसीआई है। ICL जैसा टूर्नामेंट चल गया होता तो इसका मालिक जी एंटरटेनमेंट होता। बीसीसीआई को भी एक प्राइवेट एंटी माना जाता है। एक बड़ा इंटरेस्टिंग फैक्ट है बहुत से लोगों को लगता है कि बीसीसीआई सरकारी एजेंसी है, लेकिन सरकार का कोई कंट्रोल नहीं है बीसीसीआई के ऊपर डायरेक्टली। बस बात यह है क्योंकि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल आईसीसी मानता है कि बीसीसीआई इकलौती रिप्रेजेंटेटिव है इंडियन टीम के लिए, इंडिया में क्रिकेट के लिए। 

इसी रीजन से बीसीसीआई यहां पर क्रिकेट को इंडिया में हेड करता है। अगर किसी दिन आईसीसी ने बीसीसीआई को रिकॉग्नाइज करना बंद कर दिया तो बीसीसीआई को फिर अथॉरिटी नहीं कंसीडर किया जाएगा। इंडिया में क्रिकेट की गवर्नमेंट के द्वारा कंट्रोल नहीं किया जाता है। आईपीएल को कंडक्ट करवाने की ऑर्गेनाइज करवाने की रिस्पांसिबिलिटी है बीसीसीआई के पास हैं। 

IPL का बिजनेस मॉडल क्या है

बीसीसीआई के पास तीन और कॉम्पोनेंट्स है। IPL के बिजनेस मॉडल में पहला ब्रॉडकास्ट जी टीवी चैनल पर आप आईपीएल देखते हैं, दूसरा आईपीएल की टीम्स जिन्हें ऑन किया जाता है, प्राइवेट कंपनी और प्राइवेट इंडिविजुअल्स के द्वारा और तीसरा प्राइवेट कंपनी स्पॉन्सर करती है। जो प्राइवेट कंपनी स्पॉन्सर करती हैं आईपीएल टीम्स को और ऐड देती है टीवी चैनल पर । बीसीसीआई का चौथा कंपोनेंट इस मॉडल में जो कि आईपीएल की गवर्निंग बॉडी है पहले है जो स्पॉन्सर पैसे देने लग रहे हैं। बीसीसीआई स्पॉन्सर भी दो टाइप के होते हैं एक है टाइटल्स स्पॉन्सर। आपको याद होगा एक टाइम पर इसे कहा करते थे डीएलएफ। 

यहां पर IPL के नाम से पहले टाइटल स्पॉन्सर कहा जाता है तब तक आपको इस कंपनी का दिमाग में नाम याद आएगी।  यह ब्रांच बहुत सारा पैसा देते हैं टाइटल्स स्पॉन्सर बनने के लिए शुरूआत में डीएलएफ आईपीएल टाइटल स्पॉन्सर रहा था और उनकी स्पॉन्सरशिप 40 करोड रुपए हर साल के जो उन्होंने बीसीसीआई को दिए थे।  2016-17 में 100 करोड रुपए और 2018-19 में 440 करोड़ रूपीस ऑलमोस्ट । 2020 का टाइटल  dream11 आया था।

 उसके बाद वो वापस आ गया था 440 करोड़ के साथ। 

आप देख सकते हैं चीनी कंपनी कितना ज्यादा और पैसा दे रही है स्पॉन्सर बनने के लिए करोड रुपए स्पेंड कर रहे हैं। जब भी आईपीएल ऑर्गेनाइज करवाया जाता है तो यह चाइनीस स्पॉन्सर के पीछे इतना क्यों भागते हैं। टाइटल्स स्पॉन्सरशिप से जो पैसा बीसीसीआई को मिलता है। उसका 50 परसेंट बीसीसीआई अपने पास रखता है। बाकी 50% टीम को दे देते हैं। 

अगले साल भी टाटा ही रहेगा स्पॉन्सर, लेकिन उसके बाद पता नहीं कौन रहेगा । IPL के ऑफिशल स्पॉन्सर कुछ ब्रांड जो आईपीएल की अलग-अलग चीजों को स्पॉन्सर करते हैं जैसे कि सिएट टायर्स ने जो स्ट्रेटजी ब्रेक है उसे स्पॉन्सर कर रखा है।  स्ट्रैटेजिक टाइम आउट में हमेशा सिएट टायर्स को स्पॉन्सर करने के लिए। 

इसके अलावा अपने कमेंटेटर को बोलते हो सुना होगा की पावर प्ले चल रहा है, करंट पावर प्ले चल रहा है तो यहां पर क्रेडिट स्पॉन्सर किया।  फिर इन्होंने बना रखा है dream11 गेम चेंजर। टोटल में एस्टीमेट किया गया है इन ऑफिशल स्पॉन्सर से बीसीसीआई को मिलने लगे करोड़ों रुपए।  स्पॉन्सरशिप एक जरिया हो गया बीसीसीआई के लिए कमाई का। 

IPL ब्रॉडकास्टर राइट्स की कमाई 

इसके अलावा दूसरा बड़ा जरिया है कमाई का बीसीसीआई के लिए ब्रॉडकास्टर को राइट देना। अब IPL किसी न किसी टीवी चैनल पर तो प्ले किया ही जाएगा कौन सी टीवी चैनल पर प्ले किया जाए आईपीएल । हर टीवी चैनल चाहेगा कि मेरे टीवी चैनल पर प्ले हो ताकि और शिफ्ट मिल सके मुझे।  इसलिए बीसीसीआई ब्रॉडकास्टिंग राइट्स देता है पैसे की एक्सचेंज में टीवी चैनल को। आईपीएल के पहले 10 सालों के लिए सोनी के पास यह मीडिया राइट थे।

2008 से लेकर 2017 तक इन्होंने टोटल में 8200 करोड रुपए स्पेंड किए थे इस पर।  तो हर सीजन के लिए ऑलमोस्ट 820 करोड रुपए। लेकिन फिर साल 2018 में स्टार भारत ने इसके राइट्स खरीद लिए 16400 करोड रुपए की कॉस्ट पर अगले 5 सालों के लिए । यहां पर अमाउंट जो आता है पैसों का यह बीसीसीआई अपने पास रख लेता है और बाकी आधा बाकी टीम्स की फ्रेंचाइजी को मिल जाता है । स्टार स्पोर्ट्स अगर 16000 करोड रुपए स्पेंड तो कुछ तो यहां पर उसका उन्हें वापस मिल रहा होगा नहीं इतने सारे पैसे को खर्च तो करेंगे नहीं बे मतलब ।

बात यह दोस्तों की उन्हें ना की वापस मिलता है बल्कि वह मुनाफा ही कमाते हैं इस पूरे प्रोसेस में। स्टार स्पोर्ट्स पर अगर IPL 2022 में आपको 10 सेकंड की ऐड चलानी है तो 10 सेकंड की ऐड के लिए आपको ऑलमोस्ट 15 लख रुपए स्पेंड करने पड़ेंगे।  14.5 लाख तो बे एग्जैक्ट ए स्टार भारत का प्राइस है। अगर आप ऐड चलवाना चाहते हैं मैच के बीच में ओवर जब खत्म हो जाता है जो बीच में ऐड आता है उनके लिए इससे ज्यादा मिल जाता है। जो बाकी स्पॉन्सर करते हैं चैनल पर प्राइवेट कंपनी के द्वारा या फिर प्राइवेट इंडिविजुअल्स के द्वारा सेलिब्रिटीज हो सकते हैं। 

T20 World Cup 2024 के कार्यक्रम की घोषणा हो चुकी हैं। भारत पाकिस्तान मैच 9 जून को

 IPL टीमों का खर्चा 

बड़े-बड़े बिजनेसमैन हो सकते हैं। आईपीएल टीम को खरीदने के बाद काफी चीजों पर पैसा खर्च करना पड़ता है जो प्लेयर्स को खरीदा जाता है प्लेयर्स की सैलरी देने के लिए आईपीएल टीम को खर्च करना पड़ता है, प्लेयर्स की ट्रेनिंग के लिए ,यह सारा खर्चा आईपीएल टीम उठाती है। ओन  एवरेज एक आईपीएल टीम का खर्चा होता है 200 करोड रुपए के आसपास काफी ज्यादा पैसा है और जो आईपीएल टीम के ओनर है वह अपनी जेब से पैसा खर्च करेंगे तो इन्हें पैसा कहां से मिलता है एक जरिया तो मैंने आपको बताया ही पहले बीसीसीआई अपना आधार रेवेन्यू शेयर करता है।  

IPL टीम के साथ लेकिन यह काफी नहीं होतास्पॉन्सर होते हैं IPL की जर्सीज पर यहां पर स्पॉन्सर करते हैं ठीक है एवरेज आईपीएल आउटफिट पर 10 ब्रांड लागोस लगे होते हैं 6 जर्सीज पर दो पेंट्स पर और दो उनकी टोपी पर तो यह ब्रांड आईपीएल टीम्स को पैसा देते हैं। 

यहां पर स्पॉन्सर करने के लिए और फिर फाइनली और में रहा प्राइस मनी 20 करोड रुपए का इनाम जो भी टीम इस सीजन में IPL को जीतेगी इसके अलावा जो रनर अप टीम होगी जो फाइनलहर भी तेरा करोड रुपए मिलेंगे जो टीम क्वालीफाई मैच 7 करोड़ मिलेंगे और जो टीम एलिमिनेटर मैच आ रही है उन्हें 6.5 करोड़ रूपीस मिलेंगे ये जो प्राइस मनी होता हैइसका टीम के ऑनर्स है औरटीम के प्लेयर्स के पास उनमें इक्वली बांट दिया जाता है।

Leave a comment