IPL 2024 DRS की जगह लागू होगा SRS ( रिव्यू सिस्टम ) क्या है? क्या हैं इस का असर

BY MANJEET            20/03/2024 

IPL 2024 की शुरुआत 22 ( शुक्रवार ) मार्च 2024 को हो रही है। सभी टीमों ने अपनी कमर कस ली हैं। इसी के साथ बीसीसीआई ने भी आईपीएल लीग 2024 में एक नियम के लागू करने की घोषणा कर दी हैं। और यह नया नियम है,डीआरएस की जगह SRS लागू होगा। अब आपको बताते हैं क्या है यह नया नियम SRS जो इस सीजन के आईपीएल में लागू होगा। 

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। जब आईपीएल को लेकर बीसीसीआई ने नियमों में बदलाव न किया हो। इसमें चाहे एक और में दो बाउंसर फेंकने वाला नियम हो या DRS बीसीसीआई नियमों का प्रयोग आईपीएल में करता ही रहता है। IPL 2024 में डीआरएस को खत्म कर दिया गया है। इसकी जगह अभी SRS नियम लागू होगा। माना जारहा है कि,SRS रिव्यू सिस्टम डीआरएस से कहीं बेहतर तक नहीं होगी। इसमें गलती की गुंजाइश न के बराबर रही होगी। 

IPL 2024 SRS रिव्यू सिस्टम क्या हैं?

एसआरएस की फुल फॉर्म क्या होती है। स्मार्ट रिव्यू सिस्टम ( SRS ) यह स्मार्ट तकनीकी किसी भी घटना को फ्रेम by फ्रेम बेहतर तरीके से रिप्ले को दिखाता है। इस सिस्टम में गलती की गुंजाइश ना के बराबर है। इसी की वजह से इस स्मार्ट रिप्ले सिस्टम भी कहा जाता है। एसआरएस तकनीक DRS तकनीक से काफी अलग होगी। डीआरएस सिस्टम लीग क्रिकेट हो या इंटरनेशनल क्रिकेट हो यह  विवादों से गिर ही रहता है। SRS तकनीक आने के बाद इन विवादों को खत्म किया जा सकेगा। IPL 2024 में नए रिव्यू सिस्टम SRS के साथ खेल जाएगा 

IPL 2024 SRS इस प्रकार समझते हैं 

  • SRS रिव्यू सिस्टम को लागू होने के बाद,प्लेयर्स या अंपायर जब स्मार्ट रिव्यू सिस्टम लेंगे तो टीवी निदेशक  का रोल खत्म हो जाएगा। इसके आने के बाद अंपायर दो हॉक-आई ऑपरेटर से घटना की जानकारी लगा और अपना फैसला सुना देगा। 
  • SRS स्मार्ट रिव्यू सिस्टम के लिए ग्राउंड में कुल 8 कैमरे अलग-अलग एंग्लो से लगाए जाएंगे। जो केवल SRS सिस्टम के लिए ही होंगे। इन कैमरा की मदद से टीवी अंपायर मैदान की घटना नजर रख पाएंगे। इसके लिए साथ में अंपायर को दो हॉक-आई ऑपरेटर भी मिलेंगे,जो एक ही कमरे में बैठेंगे। 
  • इस सिस्टम को लागू होने के बाद स्प्लिट स्क्रीन में दिखाया जा सकता है। इसमें अगर कोई फील्डिंग खिलाड़ी और थ्रू फेकता है,तो और गंदे बाउंड्री लाइन को टच कर जाती है। इस प्रकार की कंडीशन में  देखा जा सकेगा की खिलाड़ी ने जब थ्रू या फेंका हैं।  तो बल्लेबाज लाइन क्रॉस कर चुका था या नहीं यह अच्छे से देखा जा सकेगा। 
  • SRS रिव्यू सिस्टम आने के बाद अगर कोई भी बल्लेबाज स्टंप आउट होता है। अंपायर को ऑपरेटर द्वारा साइड ऑन कैमरा,फ्रंट ऑन फुटेज,ट्राई विजन इन सबको एक साथ दिखाया जा सकता है। 
  • एसआरएस मैदान पर लागू होने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग ( IPL 2024 ) के सभी मैचों में 15 अंपायर ( यानि एक मैच में 15 एंपायर ) एक साथ काम करेंगे। इसी वजह से इस सिस्टम में गलती की गुंजाइश न के बराबर है। 

राजस्थान रॉयल्स IPL 2024 की वो प्लेयिंग 11 जो बन सकती है इस बार की आईपीएल चैंपियन

आईपीएल में सबसे सफल DRS किसका हैं?

आईपीएल 2023 पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी डीआरएस सफल रेट 85.71 प्रतिशत रहा। महेंद्र सिंह धोनी ने अब तक कुल 432 बार रिव्यू लिया है। धोनी का रिव्यू सक्सेस रेट 98% है। धोनी एक ऐसे खिलाड़ी हैं,जिसका DRS सक्सेस रेट इतना हाई है। डीआरएस लेने के मामले में महेंद्र सिंह धोनी सबसे ऊपर हैं उनके आसपास भी कोई खिलाड़ी नहीं है। 

DRS नियम क्या है?

क्रिकेट मैच के दौरान खिलाड़ी को यह लगता है कि,अपील करने के बाद भी अंपायर ने गलत निर्णय दिया है। तो इस कंडीशन में गेंदबाजी कर रही टीम की ओर से कप्तान DRS ले सकता है। बल्लेबाजी कर रही टीम की ओर से नॉन स्ट्राइक पर खड़ा बेस्ट मैन या जिस खिलाड़ी के खिलाफ गलत निर्णय दिया गया है। वह वह खिलाड़ी डीआरएस ले सकता है। 

Leave a comment