YS Sharmila की मुलाकात कांग्रेस हाईकमान से जाने इनके बारे मे 10 बातें

BY MANJEET         03/01/2024

YS Sharmila  : को कौन नहीं जानता है। यह एक राजनीति का एक जाना माना चेहरा है। जो अब आंध्र प्रदेश से राजनीति में सक्रिय हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी की बहन और वाईएसआर तेलंगाना पार्टी के  शर्मिला (YS Sharmila) रेड्डी कांग्रेस में शामिल हो सकती हैं। ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस में लोकसभा चुनाव में अहम जिम्मेदारी दे सकती हैं। YS Sharmila आज दिल्ली में है। और वह आज कांग्रेस के प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे  राहुल गांधी और कांग्रेस के अन्य नेताओं से मुलाकात कर सकती है। यह मुलाकात दोनों पार्टियों के गठबंधन को लेकर हो रही है। 

YS Sharmila की मुलाकात कांग्रेस हाईकमान से जाने इनके बारे मे 10 बातें
YS Sharmila की मुलाकात कांग्रेस हाईकमान से जाने इनके बारे मे 10 बातें

2012 में जब जगमोहन जेल में थे, तब YS Sharmila ने एसआरसी पार्टी की कमान संभाली और आंध्र प्रदेश में व्रत और पदयात्रा की थी। माना जा रहा है कि है, बैठक आज दोनों पार्टियों के लिहाजा से आज बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस मुलाकात का मकसद दोनों पार्टियों का आगामी चुनाव को देखते हुए। इसी साल 2024 आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव  होने वाले हैं दोनों पार्टियों के गठबंधन से यह चुनाव काफी दिन दिलचस्प रहेगा। खबरों की माने तो YS Sharmila को दक्षिणी राज्य का चुनावी प्रभारी बनाया जा सकता है।यह माना जा रहा है कि दोनों पार्टी के विलय के बाद शर्मिला को कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय स्तर पर मुख्य पद दे सकती है

YS Sharmila  बारे में जानने योग्य 10 बातें

  1. YS Sharmila  इस49 वर्षीय इस शर्मिला रेड्डी आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री इस राज शेखर रेड्डी की बेटी और वर्तमान सीएम जगनमोहन रेड्डी की बहन है। 
  2. शर्मिला की शादी अनिल कुमार से हुई है जो एक हिंदू परिवार से आते हैं और 1995 में शर्मिला से शादी के बाद उन्हें ईसाई धर्म अपना लिया क्योंकि वाईएसआर का परिवार ईसाई  है। 
  3. 1998 में अनिल कुमार एक प्रचारक बन गए शर्मिला और अनिल के दो बच्चे हैं राजा रेड्डी और अंजलि रेड्डी राजा रेड्डी 17 फरवरी को अटल पूरी प्रिया से शादी के बंधन में बनेंगे प्रिया चटनी फूड चेन के मालिक अटलुरी  विजया वेंकटेश प्रसाद की पोती है। 
  4. 2009 में एक विमान दुर्घटना में उनके पिता की मृत्यु के बाद राज्य मेंउनके कुछ समर्थकों नेआत्महत्या कर ली थी। फिर जगन ने राज्य का दौरा करना शुरू किया जिसे कांग्रेस ने अपना समर्थन देने से इनकार कर दिया यह तब हुआ था,  जब जगन और भाई जगन और उसकी  मां विजयम्मा ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और वाईएसआर कांग्रेस की शुरुआत की थी। 
  5. 2021 में भाई से अलग होने के बाद शर्मिला ने अपनी अलग पार्टी बना ली थीशर्मिला की पार्टी का नाम वाईएसआर तेलंगाना पार्टी है। जब जगन 2012 में लंबे समय तक जेल में थे, तब शर्मिला ने एसआरसी की कमान भी संभाली थी। 
  6.  2019 में आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी लाइन अपने भाई के लिए प्रचार की कमान भी संभाली थी। 
  7. वाईएस शर्मिला की पार्टी ने कांग्रेस को मोहन समर्थन देते हुए तेलंगाना चुनाव नहीं लड़ा था। 
  8. YS Sharmila ने जो पार्टी बनाई थीउसके 1 साल बादउनकी मां इस विजय मां ने अपने बेटे की भाई सीआरसी से इस्तीफा दे दिया और और शर्मिला की पार्टी को समर्थन देने की घोषणा की थी। 
  9. शर्मिला ने एक इंट्रो में कहा था कि वह तेलगाना में राजनीति करने की इच्छुक है।ऐसा इसलिए कहा था क्योंकि इनके भाई जगनआंध्र प्रदेश में बहुत ही अच्छा काम कर रहें हैं।
  10. आज की बैठक से अनुमान लगाया जा रहा है कि वाईएस शर्मिला की पार्टी का गठबंधन कांग्रेस पार्टी से हो सकता है जो आगामी चुनाव में दोनों एक साथ देखे जा सकते हैं। 

IPL 2024 की नीलामी मंडी में कुछ खास पैसेओ में न बिकने वाले 4 टॉप विदेशी खिलाड़ी

Leave a comment